अँकड़ी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँकड़ी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ अङ्कुर = अंखुआ = टेढ़ी नोक; अथवा सं॰ अङ्कुटक प्रा॰ अङ्कुड़ग, अंकुड़य]

१. अँकटी ।

२. हुक । कँटिया ।

३. तीर का मुड़ा हुआ फल । टेढ़ी गाँसी ।

४. बेल । लता ।

५. लग्गी । फल तोड़ने कता बाँस का डंड़ा जिसके सिरे पर फँसाने के लिए एक टेढी छोटी लकड़ी बँधी रहती है ।