अँखिया

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँखिया † संज्ञा स्त्री॰ [ सं॰ अक्षि, प्रा॰ अक्खि, हिं॰ आँखी, अँखिया, पं॰ अंख ]

१. आँख । नेत्र । उ॰— अंखिया निरखि स्याम मुख भूलीं ।—सूर॰, १० ।२४०१ । विशेष—दुलार या स्नेहयुक्त अभिव्यक्ति के प्रसंग में प्राय: इस रुप का प्रयोग होता है ।

२. लोहे का एक ठप्पा या कमल जिससे बरतन पर हथौडी़ से ठोंक ठोंककर नक्काशी बनाते हैं ।