अँगोछना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँगोछना क्रि॰ स॰ [सं॰ अङ्गोञ्च्छन] गीले कपड़े से देह पोछना । शरीर पर गीला वा भीगा वस्त्र रखकर मलना । गीला कपड़ा फेरकर बदन साफ करना । उ॰—पीत पट लै लै के अँगोछत सरीर करु कंजन सौं पोछत भुसुंड गजराज कौ ।—रत्नाकर, भा॰ २, पृ॰ १०० ।