अँचवाना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँचवाना पु † क्रि॰ स॰ दे॰ 'अचवाना' । उ॰—अँचवाइ दीन्हे पान गवने व स जहँ जाको रह्यो ।—मानस, १ ।९९ ।