अँटकना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँटकना क्रि॰ अ॰ [देश॰]

१. रुकना । अड़ना । उ॰—गोरख अँटके कालपुर कौन कहावैं साहु ।—कबीर बी॰, पृ॰ 95 ।

२. फैसना । उलझना । उ॰—सूं॰ सनेह ग्वाली मन अँटक्यो अंतर प्रीति जाति नहीं तोरी ।—सूर॰, १० ।३०५ । दे॰ 'अटकना' ।