अँदुआ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँदुआ संज्ञा पुं॰ [सं॰ अन्दुक, प्रा॰ अंदुया] हाथियों के पिछले पैरों में डालने के लिये लकड़ी का बना एक काँटेदार यंत्र । विशेष—यह दो धनुषाकार लकड़ियों का बना होता है जिनके मुहँ एक ओर कील से मिले रहते है । इसे हाथी के पैर में डालकर दूसरे छारों को भी बाँध देते हैं ।