अँधेर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँधेर संज्ञा पुं॰ दे॰ अँधेरा ^१ । उ॰— वहि देसवा में नित्त पूनिमा, कबहु न हो़इ अँधेर ।— कबीर॰ श॰,भा॰ २, पृ॰ ६४ ।