अँधेरना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अँधेरना पु क्रि॰ स॰ [अंधेर+ना] अँधेरा करना । अंधकार- मय करना । तमाच्छादित करना । उ॰— अरी, खरी सटपट परी, बिध आधै मग हेरि । संग लगैं मधुपनु लई भागन गली अँधेरिं ।—बिहारी र॰, दो॰ ४५९ ।