अऊत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अऊत ^१पु वि॰ [सं॰ अपुत्र, प्रा॰ अपुत्त, अउत्त] निपूता । बिना पुत्र का । निःसंतान । उ॰—(क) धन्य सों माता सुंदरी, जिन जाया वैष्णव पूत । राम सुमिरि निर्भय भया, और सब गया अऊत । ।—कबीर (शब्द॰) । (ख) गये हुये माँगन कौ पूत । यहु फल दीनौ सती अऊत ।—अर्धं॰, पृ॰९ ।

अऊत ^२पु संज्ञा पुं॰ अपुत्रत्व । निपुत्रता । उ॰—यह ताकौं निस्तारिहै, उनते जाइ अऊत ।—सुंदर ग्र॰, भा १, पृ॰ १८३ ।