अकांत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकांत वि॰ [सं अकान्त] जो कांत न हो । जो सुंदर न हो । उ॰— हरिऔध कांत को अकांत अवलोकिहै तो, मृदुल करेजो कुल- कामिनी को छिलेहै ।—रसक॰, पृ॰ २९५ ।