अकारज

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकारज पु संज्ञा पुं॰ [सं॰ अकार्य] कार्य की हानि । हानि । नुकसान । हर्ज । उ॰—(क) आप अकारज आपनो करत कुसंगत साथ । पायँ कुल्हाड़ी देत है मूरख अपने हाथ ।—सभाबिलास (शब्द॰) । (ख) ताते न मान समान अकारज जाको अयानु बड़ो अधिकारी, देव कहै कहिहौं हित की हरि जू सो हितू न कहूँ हितकारी ।—देव (शब्द॰) ।