अकुण्य

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अकुण्य संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. जो धातु निम्न श्रेणी की न हो, सेना या चाँदी ।

२. कोई भी साधारण धातु, ताँबा, पीतल आदि [को॰] ।