अनवद्राण

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अनवद्राण वि॰ [सं॰] न सोनेवाला । अनिद्रित [को॰] ।