अभिव्यक्ति

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

अभिव्यक्ति संज्ञा स्त्री॰ [सं॰]

१. प्रकाशन । स्पष्टीकरण । साक्षात्कार । प्रकट होना ।

२. उस वस्तु का प्रत्यक्ष होना जो पहले किसी कारण से अप्रत्यक्ष हो, जैसे— अँधेरे में रथी चीज का उजाले में साफ साफ दीख पड़ना ।

३. न्याय के अनुसार सूक्ष्म और अप्र- त्यक्ष कारण का प्रत्यक्ष कार्य में आविर्भाव जैसे, बीज से अंकुर का निकलना ।