आँधर

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आँधर वि॰ [सं॰ अन्ध, प्रा॰ अंधल] [ स्त्री आँधरी] अँधा । उ॰— सूर कूर, आँधरौ, मैं द्वार परयौ गाऊँ । सूर॰, १ ।१६६ । यौ॰—आँधर अँधुआ = अँधा । उ॰—माया के बँधुआ आँधर अँधुआ साधु जाने एह जाने एह बातें । सं॰ दरिया,पृ॰ १४१ ।