आँधारंभ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आँधारंभ पु संज्ञा पुं॰ [हिं॰ आँधर=अंधा (मुर्ख) जैसा+आरम्भ] अँधेरखाता । बिना समझा बुझा आचरण । उ॰—करता दीसै किरतन, उँचा करि करि दंभ । जानै बुझै कछू नहीं,यों ही आँधारंभ । —कबीर (शब्द॰) ।