आंतारिक

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आंतारिक वि॰ [सं॰ आन्तर + इक (प्रत्य॰)]

१. आंतर या हृदय- संबंधी । उ॰—जब एक व्यक्ति अपने आंतर सत्य को प्राप्त करने के लिये अपनी सारी शक्तियों को केंद्रीभूत करता है... ।—मुँशी अभि॰ ग्रं, पृ॰ ४७ ।

२. घरेलू । भीतरी । उ॰—नंद आंतरिक विग्रह के कारण जर्जारित हो गया था ।-चंद्र॰, पृ॰ ३२ ।