आक्रंद

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आक्रंद संज्ञा पुं॰ [सं॰ आक्रन्द]

१. रोदन । रोना ।

२. चिल्लाना । चीखना । चिल्लाहट ।

३. बुलाना । पुकार ।

४. मित्र । भाई । बंधु ।

५. चोर युद्ध । कड़ी लड़ाई ।

६. ध्वनि । आवाज । शब्द ।

७. ग्रहयुद्ध में किसी एक ग्रह के दूसरे ग्रह की अपेक्षा बलवान् या विजयी होने की अवस्था ।

८. प्रधान शत्रु के पीछे रहकर सहायता करनेवाला शत्रु राजा या राष्ट्र ।