आतमक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

आतमक पु वि॰ [सं॰ आत्मक] दे॰ 'आत्मक' । उ॰—प्रथम मंगलाचरन को तीनि आतमक जानि । नमस्कार अरु ध्यान पुनि, आसिरबाद बखान ।—भिखारी, ग्रं॰, भा॰१, पृ॰ १ ।