ईडा़

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ईडा़ संज्ञा स्त्री॰ [ सं॰ ईडा=स्तुती] [वि॰ ईडित, ईड्यत] स्तुति । प्रशंसा । उ॰—(क) कीन्हि बिडौजा ईडि जिमि बार बार सिर नाय । कहुँ अभय बर दीन्ह हरि पठयौ त्यहि समुझाय-लल्लू (शब्द॰) । (ख) रति माँगी तुमते करि ईडा़ । पारथ करहु संग मम क्रीडा़ ।— सबल (शब्द॰) ।