ईरखा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ईरखा पु संज्ञा स्त्री [ सं॰ ईर्षा ] उ॰—करै ईरखा । सों जु तिय मनभावन सों मान ।-मतिराम ग्रं॰, पृ॰ २९४ ।