ईरित

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ईरित पु वि॰ [सं॰] प्रेषित । प्रेरित । उ॰—ऊधौ बिधि ईरित भई है भाग कीरति, लही रति जसोदा सुत पायनि परस की ।— घनानंद, पृ॰ २०२ ।

२. कहा हुआ(क॰) ।

३. काँपता हुआ । हिलता डुलता हुआ [को॰] ।

४. गया हुआ । गत [को॰] ।