उक्तप्रत्युक्त

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उक्तप्रत्युक्त संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. लास्य के दस अंगों में से एक ।

२. (नाट्य शास्त्त के अनुसार) उक्ति प्रतियुक्ति से युक्त, उपालंभ के साहित,—अलीक (अप्रिय या मिथ्या) सा प्रतीत होनेवाला और विलासपूर्ण अर्थ से सुसंपन्न गान ।