उखली

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उखली संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ उदभल, उलूखेल; पा॰ उच्खल, प्रा॰ उक्खल उऊखल, उऊहल] मोढ़े के आकार का लकड़ी का बना हुआ एक पात्र । ओखली । काँडी । विशेष—इसके बीच में एक हाथ से कुछ कम गहरा गड्ढा होता है । इस गड्ढा में डालकर भूसीवाले अनाजों की भूसी मूसल से कूटकर अलग की जाती है । कहीं कहीं ऊखली पत्थर की भी बनती है जो जमीन में एक जगह गाड़ दी जाती है ।