उगटना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उगटना पु क्रि॰ अ॰ [सं॰ उदघाटन]

१. उघटना । बार बार कहना । उ॰— उगटहिं छंद प्रबंध गीत पद राग तान बंधान । सुनि कित्नर गंधर्व सराहत बिथकहिं बिबुध विमान ।—तुलसी (शब्द॰) ।

२. ताना मारना । बोली बोलना ।