उगहना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उगहना ^१ † क्रि॰ अ॰ [सं॰ उग्ग्रह] दे॰ 'उगना' । उ॰—मारू सी देखी नही, अणमुख दोय नयणाँह । थोड़ों सो भोले पड़इ, दणयर उगहनाँह ।—ढोला॰, दू॰ ४७८ ।

उगहना ^२ क्रि॰ स॰ [हिं॰] "उगाहना" ।