उगाहो

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उगाहो संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ उगाहना]

१. भिन्न भिन्न लोगों से उन के स्वीकृत नियमानुसार अन्न धन आदि लेकर इकट्ठा करने का कार्य । रुपया पैसा वसूल करने का काम । वसूली ।

२. वसूल किया हुआ रुपया पैसा ।

३. जमीन का लगान ।

४. एक प्रकार का रुपए लेन देन जिसमें महाजन कुछ रुपए देकर ऋणी से तब तक महीने महीने या सप्ताह कुछ वसूल करता रहता है जब तक उसका रुपया ब्याज सहित वसूल न हो जाए ।

५. चंदा आदि के रूप में एकत्रित किया गया द्रव्य ।