उचका

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उचका पु क्रि॰ वि॰ [हिं॰ औचक या अचाका] अचानक । सहसा । उ॰—ज्यों हरनिन की होत हँकाई, उचका उठै बाघ बिरझाई ।—लाल (शब्द॰) ।