उचापत

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उचापत †, उचापति † संज्ञा पुं॰ [देश॰]

१. बनिए का हिसाब किताब । उठान । लेखा । उ॰—मूल दास सौं बहुत कृपाल । करै उचापति सौंपै माल—अर्ध॰, पृ॰ ।

२. जो चीज बनिए के यहैँ से उधार ली जाय ।