उचास

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उचास संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ ऊँचा + आस (प्रत्य॰)] उँचाई । ऊँचास । उ॰—जण अपणाय गया तारण जग चित्रकूट गिर सिखर उचास ।—रघु॰ रू॰, पृ॰ १३० ।