उच्चय

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

उच्चय ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰]

१. संपुंज । समूह । ढेर ।

२. (पुष्पादि) चुनने की क्रिया ।

३. नीवीबंध ।

४. अभिवृद्धि । अभ्युदय ।

५. नीवार धान्य ।

६. त्रिभुज का उलटा भाग (को॰) ।

उच्चय ^२पु वि॰ [सं॰ उच्चौ] दे॰ 'ऊँचा' । उ॰—कबहुँ हृदय उमंगि बहुत उच्चय स्वर गावें—सुंदर॰ ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ २६ ।