ऊँटकटारा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊँटकटारा संज्ञा पुं॰ [ सं॰ उष्ट्रकण्ट ] एक कँटीली झाडी़ जो जमीन पर फैलती है । विशेष—इसकी पत्तियाँ भँडभाँड की तरह लंबी लंबी और काँटेदार होती हैं । डालियों में गड़नेवाली रोईं होती है । ऊँटकटारा कंकरीली और ऊसर जमीन में होता है । इसे ऊँट बडे़ चाव से खाते हैं । इसकी जड को पानी में पीसकर पिलाने से स्त्रियों का शीघ्र प्रसव होता है । इसको कोई कोई बलवर्द्धक भी मानते हैं । पर्याय—ऊँटकटीरा, ऊँटकटेला, कंटालु, करमादन, उत्कंटक, श्रृगार, तीक्ष्णाग्र ।