ऊछजना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊछजना क्रि॰ स॰ [हिं॰ उ+छजना] ऊपर की ओर करना । उठना । उ॰—छोह घणै ऊछज छरा, केहर फाड़ै डाच ।— बांकी॰ ग्रं॰, भा॰

१. पृ॰ ११ ।