ऊर्द्ध्वमन्थी

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऊर्द्ध्वमंथी ^१ वि॰ [सं॰ ऊद्रर्ध्वमन्थिन्]

१. जो अपने वीर्य को गिरने न दे । स्त्रीप्रसंग से बचनेवालसा । ऊद्रर्ध्वरेता ।

ऊर्द्ध्वमंथी ^२ संज्ञा पुं॰ ब्रह्मचारी ।