एकचित

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

एकचित ^१ वि॰ [सं॰ एकचित्त]

१. स्थिरचित्त । एकाग्रचित्त । जैसे—'मैं कथा कहता हूँ एकचित होकर होकर सुनो ।

२. समान विचार का । एक दिल । खुब हिलामिला । जैसेज—'तुम दोनों एकचित हो ।'

एकचित ^२ संज्ञा पुं॰

१. एक ही बात या विचार पर दृढ़ रहनेवाला चित्त । उ॰—जागि सुरति सपन मिट गयऊ । दुईचित मेटि एकचित भयेऊ ।—कबीर सा॰, पृ॰ १५३८ ।

२. एकाग्रता ।