ऐंठ

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐंठ संज्ञा स्त्री॰ [हिं॰ ऐंठन]

१. अहंकार की चेष्टा । अकड़ । ठसक ।

२. गर्व । घमंड । उ॰—पर आशा की और कहाँ तक ऐंठ सहूं मैं ।—साकेत, पृ॰, ४०१ ।