ऐड़ा

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ऐड़ा ^१ वि॰ [हि॰ ऐंड़ना] [स्त्री, ऐंड़ी] टेड़ा । ऐँड़ा हुआ । मुहा॰—अंग ऐंड़ा करना=ऐँठ दिखाना । बेपरवाई और घमंड दिखाना । उ॰—यह ग्वारन को गाँव बात नहिं सूधे बोलैं । बसें पसुन के संग अंग ऐँड़े करि डोलैं ।—दीन- दयाल (शब्द॰) ।

ऐड़ा क्रि॰ अ॰ [हिं॰] दे॰ 'ऐंठा'; 'ऐड़ा' । उ॰—ऐडो रहै निसंक तासु हाँसी करि डोलै ।—दीन॰ ग्रं॰, पृ॰ १९४ ।