कँसुला

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कँसुला संज्ञा पुं॰ [हिं॰ काँसा ] [स्त्री॰ अल्पा॰ कँसुली] काँसे का एक चौखूटा टुकड़ा जिसके पहलों में गोल गड्ढे होते हैं । इस पर सोनार घुँघरू आदि के बोरों की खोरिया बनाते हैं । पाँसा । किरकरा ।