कंचनी

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कंचनी संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ कञ्जिनी = वेश्या अथवा सं॰ कंचन+हिं॰ ई (प्रत्य॰)] वेश्या । उ॰—सेवक द्विज दच्छिना, कंचनी कवि धन पावत ।—प्रेमघन, पृ॰ ३३ ।