कंजूस

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी

विशेषण

  1. धन संग्रह के लालच में कष्ट सहकर हीन अवस्था में रहने वाला व्यक्ति, कृपण

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

कंजूस वि॰ [सं॰ कण+हिं॰ चूस] [संज्ञा कंजूसी] जो धन का भोग न करे । जो न खाय और न खिलावे । कृपण । सूम । मक्खी- चूस ।