कंदील

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

कंदील ^१ संज्ञा स्त्री॰ [अ॰ कन्दील॰] अबरक, कागद या मिट्टी का वह घेरा जिसमें रखकर दीपक जलाते हैं और ऊँचाई पर टाँग देते हैं ।

कंदील ^२ संज्ञा पुं॰ [हिं॰ कंडाल] जहाज में वह स्थान जहाँ पानी रहता है और लोग पायखाना फिरते और नहाते हैं । सेतखाना ।