घड़ियाल

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

घड़ियाल ^१ संज्ञा पुं॰ [सं॰ घटिकालि, प्रा॰ घड़िआलि = घंटों का समूह] वह घंटा जो पूजा में या समय की सूचना के लिये बजाया जाता है । विशेष—दिल्ली में इस शब्द को स्त्रीलिंग बोलते हैं ।

घड़ियाल ^२ संज्ञा पुं॰ [देश॰] एक बड़ा और हिंसक जलजंतु । ग्राह । विशेष—घड़ियाल आठ दस हाथ लंबा और गोह या छिपकली के आकार का होता है । इसकी पीठ पर का चमड़ा काला और कड़ा होता है । इसकी ठोर का ऊपरी भाग लोटे के आकार का होता है जिसे तूँबी या मटुक कहते हैं ।