चंद्रमणि

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चंद्रमणि संज्ञा पुं॰ [सं॰ चन्द्रमणि ]

१. चंद्रकांत मणि । उ॰— (क) चौकी हेम चंद्रमणि लागी हीरा रतन जराय खची । भुवन चतुर्दश की सुंदरता राधे के मुख मनहि रची ।— सूर (शब्द॰) । (ख) केती सोमकला करो, करो सुधा को दान । नहीं चंद्रमणि जो द्रवै, यह तेलिया पखान ।— दीनदयाल (शब्द॰) ।

२. उल्लाला छंद का एक नाम ।