चंद्रालोक

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चंद्रालोक संज्ञा पुं॰ [सं॰ चन्द्रालोक]

१. चंद्रमा का प्रकाश ।

२. जयदेव नामक कवि रचित अलंकार का एक संस्कृत ग्रंथ । विशेष— अधिकांश लोगो का मत है कि चंद्रालोककार जयदेव, गीतगोविंदकार जयदेव से भिन्न है ।