चूची

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चूची संज्ञा स्त्री॰ [सं॰ चुचि या चू चुक]

१. स्तन का अग्रभाग । कुच के ऊपर की घुंड़ी ।

२. स्त्री की छाती । स्तन । कुच । यौ॰—चूचीपीता = बहुत छोटा (बच्चा) । नासमझ । नादान । मुहा॰—चूची पीना = चूची को मुँह में लगाकर उसका दूध पीना । स्तनपान करना । चूची मलना = (पुरुष का) संभोग के समय आनंदवृद्धि के लिये स्त्री के स्तन को हाथों से दबाना, मलना या मर्दन करना ।