चूसना

विक्षनरी से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

चूसना क्रि॰ स॰ [सं॰ चूषणा]

१. जीभ और होंठ के संयोग से किसी पदार्थ का रस खींच खींचकर पीना । जैसे, — आम चूसना, गँडेरी चूसना ।

२. किसी चीज का सार भाग ले लेना । जैसे— किसी स्त्री का पुरुष को चूस लेना । किसी बदमाश का भले आदमी को चूसना अर्थात् उसका धन आदि अपहरण करना । संयो॰ क्रि॰ — डालना ।— लेना ।

३. किसी वस्तु को चूस चूसकर समाप्त करना जैसे, — लेमनचूस का चूसना । किसी वस्तु का गीला पन सोख लेना ।