जन्नत

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

जन्नत संज्ञा पुं॰ [अ॰]

१. उद्यान । वाटिका । बाग ।

२. विहिश्त । स्वर्ग । देवलोक । उत्तम लोक । उ॰—हमको मालूम है जन्नत की हकीकत लेकिन । दिल के खुश रखने को गालिब ये खयाल अच्छा है ।—कविता कौ॰, भा॰ ४, पृ॰ ४७४ । (ख) जन्नत से कढ़वा दिया शुरू में ही बेचारे आदम को ।—धूप॰, पृ॰ ७३ ।