जीवन

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search

किसी भी प्राणी के जन्म और मृत्यु के बीच का समय उसका जीवन होता है

पर्यायवाची

अनुवाद

हिन्दी

प्रकाशितकोशों से अर्थ

शब्दसागर

जीवन संज्ञा पुं॰ [सं॰] [वि॰ जीवित]

१. जीवीत रहने की अवस्था । जन्म और मृत्यु के बीच का काल । वह दशा दिसमें प्राणी आपनी इंद्रियों द्वारा चेतन व्यापार करते हैं । जिंदगी । जैसे,— अपने जीवन में ऐसी घटना मैंने कभी नहीं थी यौ॰— जीवनचरित् । जीवनचर्या । मुहा॰—जीवन भरना = जीवन ब्यतीत करना । जिंदगी के दिन काटना ।

२. जीवित रहने का भाव । जीने का व्यापार या भाव । प्राण- धारण । जैसे,— अन्न से ही तो मनुष्य का जीवन है । यौ॰— जीवनदाता । जीवनधन । जीवनमूरि ।

३. जीवित रखनेवाली वस्तु जिसके कारण कोई जाता रहै । प्राण का अवलंब । जैसे,— जल ही मनुष्य का जीवन है ।

४. प्राणधार । परमप्रिय । प्यारा ।

५. जल । पानी । उ॰— जगत जीवन हेतु जीवन (जल) बिंदु की वर्षा होती ।— प्रेमघन॰, भा॰२, पृ॰ ३३४ ।

७. मज्जा ।

८. वात । वायु ।

९. ताजा घी या मक्खन ।

१०. जीवक नामक औषघ ।

११. पुत्र ।

१२. परमेश्वर ।

१३. गंगा ।

१४. क्षुद्र फल नाम का पौधा [को॰] ।