ज्योहर

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

ज्योहर † संज्ञा पुं॰ [सं॰ जीव + हर] राजपूतों की एक प्रथा जिसके अनुसार उनकी स्त्रियाँ गढ़ के शत्रुओं से घिर जाने पर चिता में जलकर भस्म हो जाती थीं । दे॰ 'जौहर' ।