झझकाना

विक्षनरी से
Jump to navigation Jump to search


हिन्दी[सम्पादन]

प्रकाशितकोशों से अर्थ[सम्पादन]

शब्दसागर[सम्पादन]

झझकाना क्रि॰ स॰ [हिं॰ झझकना का प्रे॰ रूप]

१. अचानक किसी प्रकार के भय की आशंका कराके किसी काम से रोक देना । चमकाना । भड़काना । उ॰—जुज्यों उझकि झाँपति बदन फुकति बिहँसि सतराइ । तुत्यों गुलाल मुठी झुठी झझकावत पिय जाइ ।—बिहारी (शब्द॰) ।

२. चौंका देना ।